महेंद्र सिंह धोनी मे अब भी मैच जिताने की हिम्मत हैं: मैथ्यू हैडेन

महेंद्र सिंह धोनी मे अब भी मैच जिताने की हिम्मत हैं: मैथ्यू हैडेन


ऑस्ट्रेलिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज मैथ्यू हैडेन ने टाइम्स ऑफ़ इंडिया बात करते हुए उन्होंने एमएस धोनी इंटरनेशनल करियर को लेकर बात की.

उन्होंने कहा की एमएस धोनी मे अब भी काफी क्रिकेट बाकि है उनमे अब भी किसी भी मैच का रुख बदलने का माद्दा है.

हैडेन ने कहा की ” अभी मै धोनी को उस खिलाडी के रूप मे देखता हूँ जो किसी भी मैच को पलट सकता है. और जब भी उन्हें लगेगा की अब मुझे क्रिकेट को अलविदा कह देना चाहिए वो खुद ब खुद चले जायेंगे.

साथ ही मैथ्यू हैडेन ने अपने साथी खिलाडी  एडम गिलक्रिस्ट के अचानक सन्यास लेने की बात पर भी चर्चा की

हैडेन ने कहा की,”हर क्रिकेटर का जीवन पानी से भरा हुए गिलास और सिक्के जैसा होता है जब एक समय हो जाता है तो एक और सिक्का पानी मे गिरा दिया जाता है गिलक्रिस्ट भी कुछ इसी तरह के खिलाडी हैं.

गौरतलब है की गिलक्रिस्ट द्वारा 2008 मे बॉर्डर-गावस्कर ट्राफी मे एक कैच छुट गया था जिसके बाद गिलक्रिस्ट ने सन्यास की घोषणा कर दी थी जो सबके लिए एक चोकाने वाला फैसला था.

हैडेन  और धोनी चेन्नई सुपर किंग के लिए एक साथ खेल चुके हैं जिससे दोनों एक दुसरे को काफी करीब से जानते और समझते हैं. धोनी एक बहुत मजबूत खिलाडी है और मैच को समाप्त करने की कला उनसे अच्छी शायद ही किसी और क्रिकेटर के पास होगी. साथ ही धोनी बहुत ही धैर्य वाले खिलाडी भी हैं जो किसी भी प्रकार की प्रतिकूल परिस्थिति मे भी अपने आप को कूल रख पाते हैं.

ऐसे कई मैच है जिसमे धोनी ने टीम को मुश्किलों से निकालकर मैच जिताए हैं लेकिन 2011 के वर्ल्ड कप के फाइनल मैच मे धोनी द्वारा खेले गये पारी को सबसे ज्यादा याद रखा जाता है जब इंडिया के टॉप आर्डर के बैट्समैन आउट हो चुके तब उन्होंने न सिर्फ अपने विकेट को बचाए रखा बल्कि टीम को आखरी मे छक्का मारकर वर्ल्ड कप जिताया भी था .

हालंकि कुछ दिनों मे धोनी की बल्लेबाजी की धार जरुर कम हुयी है लेकिन आशा है की वो जल्द ही अपने पुराने फॉर्म ,मे नजर आयेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *