युवराज सिंह और सुरेश रैना

आखिर क्यों हुए युवराज सिंह और सुरेश रैना टीम से बाहर

भारतीय टीम के श्रीलंका के खिलाफ होने वाली सीरीज मे युवराज सिंह और सुरेश रैना को टीम से बाहर कर दिया गया जिससे लेकर काफी सवाल उठाये जा रहे थे.

इन दोनों खिलाडियों को टीम से बाहर करने का कारण यो=यो टेस्ट को बताया जा रहा है. गौरतलब है की युवराज सिंह और सुरेश रैना का बेंगलुरु स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी मे यो=यो नामक टेस्ट किया गया था और जिसमे वो फिट नजर नही आये ,इसी वजह से उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया है.हालंकि श्रीलंका से टेस्ट सीरीज जीतने के बाद मौजूदा टीम इंडिया की टीम ही काफी मजबूत नजर आ रही है.

इस यो=यो टेस्ट मे 19.5 या इससे ज्यादा का स्कोर जरुरी माना जाता है जबकि कप्तान कोहली का स्कोर 21 था और युवराज और रैना का स्कोर काफी निराशाजनक रहा है. युवराज सिंह सिर्फ 16 का स्कोर ही कर पाए.

इस टेस्ट मे 20 के अन्तराल पर दो लाइने बना दी जाती है,और खिलाडी का पावं लाइन के पीछे होता है, बीप के बजने के बाद खिलाडी को दौड़ना होता है और समय के अनुसार हर राउंड मे तेज दौड़ना होता है, दो बीप बजने के बाद धीमा रहना वाला खिलाडी को फ़ैल घोषित कर दिया जाता.

IND vs SL: श्रीलंका के खिलाफ पांच वनडे और एक टी-20 मैच के लिए भारतीय टीम की हुई घोषणा ,युवराज को किया बाहर

मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद और मुख्य कोच रवि शास्त्री ने फिटनेस के लिए कई मानक बनाये है . यही वजह है की टीम इंडिया मैदान पर फिटनेस मे अव्वल नजर आती है गौरतलब है की रविन्द्र जडेजा और मनीष पांडे जैसे खिलाडी यो=यो टेस्ट को नियमित अन्तराल पर पूरा करते आये हैं.

हालंकि पहले फिटनेस मे इतने कड़े नियम नही हुआ करते थे रोबिन सिंह, मोहम्मद अजहरुदीन जैसे खिलाडियों का स्कोर जब 16 और 16.5 रहता था तो उसे अच्छा माना जाता था लेकिन ऑस्ट्रेलिया की टीम के फिटनेस स्तर को देखते हुए इंडिया मे भी यह कदम उठाया जाने लगा गया.

हालंकि युवराज सिंह अपने शुरूआती करियर मे काफी फिट खिलाडियों मे से एक थे वही सुरेश रैना भी टीम इंडिया के सबसे बेहतरीन फिट खिलाडियों मे से एक माने जाते हैं लेकिन फिटनेस का स्तर जब इतना कड़ा हो तो किसी के लिए भी उसे पार करना आसान नही रह जाता और खासकर तब जब आप नियमित तौर पर टीम से न जुड़े हुए हो.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *