IND vs SL, पहला टेस्ट: पहले दिन ही चमके भारतीय बल्लेबाज शिखर धवन और चेतेश्वर पुजारा ने ठोका शतक

IND vs SL, पहला टेस्ट: पहले दिन ही चमके भारतीय बल्लेबाज शिखर धवन और चेतेश्वर पुजारा ने ठोका शतक

श्रीलंका के साथ खेले गये पहले टेस्ट मैच के पहले दिन ही भारतीय बल्लेबाजों शिखर धवन और चेतेश्वर पुजारा ने अपना जोहर दिखाते हुए पहले दिन ही 3 विकेट खोकर 399 रन बना लिए हैं

टेस्ट का पहला दिन

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया वही हार्दिक पांड्या ने भी टेस्ट क्रिकेट मे पर्दापर्ण कर लिया है पांड्या भारत की तरफ से टेस्ट खेलने वाले 289 वे खिलाडी बन चुके हैं

भारत का पहला सत्र काफी धीमा रहा और शिखर धवन ने अभिनव मुकुंद के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए 27 रन जोड़े ही थे की मुकुंद को नुवान प्रदीप ने अपना शिकार बना दिया मुकुंद 12 रन का ही योगदान दे पाए

उसके बाद चेतेश्वर पुजारा ने शिखर के साथ मिलकर बेहतरीन बल्लेबाजी की दोनों के बीच मे 253 रनों बड़ी साझेदारी देखने को मिली जहा शिखर ने अपने करियर की एक और बेहतरीन पारी खेलते हुए अपना पांचवा शतक जड डाला और  मात्र 168 गेंदों मे 190 रन बनाये जिसमे उन्होंने 31 चोक्के भी मारे वही चेतेश्वर पुजारा ने भी शानदार बल्लेबाजी करते हुए 12 चोक्के की मदद से 144 रन बनाये और पुजारा ने अपना 12वा शतक पूरा किया.

शिखर धवन और पुजारा के बीच हुई 253 रन की साझेदारी अभी तक भारत की तरफ से श्रीलंका के खिलाफ दुसरे विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी थी दोनों ही बल्लेबाजों ने  बीच के दोनों सत्र मे श्रीलंका के गेंदबाजों को विकेट के पूरी तरह से तरसा दिया हालंकि जब इंडिया का स्कोर 280 पर पंहुचा तब नुवान ने शिखर धवन को कैच आउट कर दिया इसके बाद आये कप्तान कोहली कुछ खास नही कर पाए और मात्र 3 रन बनाकर आउट हो गये.

हालंकि उसके बाद पहला दिन का खेल समाप्त होने तक इंडिया का कोई और विकेट नही गिरा था और रहाने 39 और पुजारा 144 रन बनाकर क्रीज़ पर डटे हुए थे और टीम इंडिया का स्कोर 3 विकेट के नुकसान पर 399 हो चूका था

गाल टेस्ट का पहला दिन पूरी तरह से भारतीय बल्लबाजों के नाम रहा है. भारत द्वारा अपने देश के बहार किसी टेस्ट के पहले ही दिन बनाया गया ये अभी तक सबसे बड़ा स्कोर है.

अब जब रहाने और पुजारा के बीच मे भी 133 रनों की साझेदारी हो चुकी है  दुसरे दिन टीम इंडिया की कोशिश एक बड़े स्कोर खड़ा करने की होगी ताकि श्रीलंका को दबाव मे लाकर उससे बड़े अंतर से हराया जा सके.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *